NRC पर बोले शाह- बांग्‍लादेशी घुसपैठियों को बचाना चाहता है विपक्ष?

National

नई दिल्ली: असम में सोमवार को जारी NRC ड्राफ्ट पर सियासी घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा है। संसद से लेकर सड़क तक विपक्षी दल और सरकार के बीच तकरार जारी है। इसी मसले पर राज्यसभा में जारी चर्चा के दौरान बीजेपी अमित शाह ने विपक्षी कांग्रेस पर जोरदार हमला बोलते हुए कहा कि कांग्रेस के पास असम समझौते को लागू करने की हिम्मत नहीं थी और बीजेपी सरकार ने हिम्मत दिखाकर यह काम किया है। शाह के इस बयान के बाद राज्यसभा में शोर-शराबा होने लगा। इसके बाद चेयरमैन ने दिनभर के लिए कार्यवाही स्थगित कर दी।

अमित शाह ने विपक्ष पर लगाये ये आरोप

शाह ने आरोप लगाया कि यह अवैध बांग्लादेशियों की बचाने की कोशिश है। शाह ने मंगलवार को राज्यसभा में कहा कि चर्चा के दौरान कोई यह नहीं बता रहा है कि NRC का मूल कहां है, यह आया कहां से है। उन्होंने कहा, ‘अवैध घुसपैठियों के मुद्दे पर सैकड़ों असम का युवा शहीद हुए। 14 अगस्त 1985 को पूर्व पीएम राजीव गांधी ने असम अकॉर्ड लागू किया था। यही समझौता NRC की आत्मा थी। इस समझौते में यह प्रावधान था कि अवैध घुसपैठियों को पहचानकर उनको सिटीजन रजिस्टर से अलग कर एक नैशनल रजिस्टर बनाया जाएगा। कांग्रेस के पीएम ने यह समझौता किया लेकिन यह पार्टी इसे लागू नहीं कर सकी। हममें हिम्मत थी और इसलिए हमने इसपर अमल किया।’ उन्होंने कांग्रेस से सवाल पूछा कि वह क्यों अवैध घुसपैठियों को बचाना चाहती है?

कांग्रेस के नारेबाजी के बाद सदन स्थगित

शाह के इस बयान के बाद राज्यसभा में शोर-शराबा होने लगा। कांग्रेस के सदस्य शोरगुल करते हुए चेयरमैन के आसन तक पहुंच गए। भारी शोर-शराबे के कारण कुछ भी सुनाई नहीं दे रहा था। लगातार शोरगुल के बाद चैयरमैन ने राज्यसभा की कार्यवाही पहले 10 मिनट के लिए स्थगित कर दी। दोबारा कार्यवाही शुरू होने के बाद फिर कांग्रेस के सदस्य सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। इसके बाद चेयरमैन ने दिनभर के लिए कार्यवाही स्थगित कर दी।

 

 

 

 

The post NRC पर बोले शाह- बांग्‍लादेशी घुसपैठियों को बचाना चाहता है विपक्ष? appeared first on Newstrack Hindi.

Source: Hindi Newstrack