अविश्वास प्रस्ताव को नाकाम करने की खुशी को में प्रोग्राम किए गए आयोजित

National

दिल्ली हेडक्वार्टर में मंगलवार को का स्वागत किया गया संसद में विपक्षी दलों की ओर से लाए गए अविश्वास प्रस्ताव को नाकाम करने की खुशी को जाहिर करने के लिए यह प्रोग्रामआयोजित की गई थी यूं तो पार्टी का यह प्रोग्राम अविश्वास प्रस्ताव के दौरान मिली जीत के जश्न के लिए था, लेकिन यहां एक ऐसी घटना घटी जो अर्से बाद देखने को मिली दरअसल,  अमित शाह के पार्टी अध्यक्ष बनने के बाद से भाजपा ऑफिस में एक परंपरा प्रारम्भ की गई थी पार्टी हेडक्वार्टर में जब भी कोई प्रोग्राम होता तो पीएम मोदी  अमित शाह सहित सारे नेता मंच के नीचे बैठते थे जिस भी वक्ता को सम्बोधन देना होता वही मंच के ऊपर जाता था, लेकिन मंगलवार को यह नयी परंपरा टूटती दिखी

Image result for मुद्दत बाद BJP हेडक्वार्टर में मंच पर 1 नहीं

लंबे अरसे बाद भाजपा हेडक्वार्टर में मंच पर सात कुर्सियां लगाई गई थीं बीचे की कुर्सी पीएम मोदी की थी इनके अतिरिक्त पार्टी अध्यक्ष अमित शाह, वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, सुषमा स्वराज, राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी  अनंत कुमार मंच पर लगी कुर्सियों पर बैठे थे

पीएम ने विपक्षी दलों का जताया आभार
ने मंगलवार को यहां बीजेपी (भाजपा) के सांसदों से बोला कि गवर्नमेंट के विरूद्ध अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए वे विपक्षी दलों के आभारी हैं उनके अनुसार, इससे विपक्ष का राजनीतिक खोखलापन उभरकर सामने आ गया पीएम यह बात अविश्वास प्रस्ताव को पराजित करने के लिए उन्हें सम्मानित करने के लिए बीजेपी द्वारा आयोजित संसदीय दल की मीटिंग में बोल रहे थे

बैठक में मौजूद बीजेपी के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, “प्रधानमंत्री ने अविश्वास प्रस्ताव लाकर सत्तारूढ़ पार्टी की उपलब्धियां तथा गरीबों के लिए उनकी योजनाएं जनता के सामने लाने वाले विपक्षी नेताओं को दो बार धन्यवाद दिया तथा कई बार उनका आभार जताया ” पीएम ने यह भी बोला कि इस स्तर पर कोई राजनीतिक पार्टी अविश्वास प्रस्ताव नहीं लाना चाहेगी

भाजपा नेता ने मोदी के हवाले से कहा, “अपरिपक्व विपक्षी दलों द्वारा प्रदान किए गए मौका का बीजेपी  राष्ट्रीय जनतांत्रिक साझेदारी (राजग) ने अच्छा उपयोग किया इसने हमें राजग की जीत की कहानी पूरे राष्ट्र को बताने का मौका दिया ”

अविश्वास प्रस्ताव में 195 मतों से हारा विपक्ष
मॉनसून सत्र के दौरान बीजेपी संसदीय दल की मीटिंग के बाद संवाददाताओं से संसदीय मामलों के मंत्री अनंत कुमार ने बोला कि संख्या को अपने विरूद्ध जानने के बावजूद वे अविश्वास प्रस्ताव लाएअविश्वास प्रस्ताव 195 मतों से पराजित किया गया कुमार ने मोदी के हवाले से कहा, “उन्होंने आंकड़ों  तथ्यों के बिना ही हम पर हमला किया जनता के सामने उनका खोखलापन सामने आ गया ” कुमार ने बोला कि मोदी ने प्रस्ताव पर केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के सम्बोधन की भी प्रशंसा की  पार्टी सदस्यों को इसे जनता के बीच ले जाने के लिए कहा मीटिंग को मोदी के अलावापार्टी अध्यक्ष अमित शाह, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज  सड़क एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने भी संबोधित किया

Source: Purvanchal media