बॉलीवुड की इस ‘ट्रेजिडी क्वीन’ को Google ने कुछ इस तरह किया याद

National

इंडियन सिनेमा की ‘ट्रेजडी क्वीन’ के नाम से मशहूर अभिनेत्री मीना कुमारी का आज यानी एक नवंबर को जन्मदिवस है    अपनी खूबसूरती ने सभी को अपना कायल बनाने वाली मीना कुमारी की याद में गूगल ने शानदार डूडल बनाया है तीन दशकों तक बॉलीवुड पर राज करने वाली मीना कुमारी ने कई फिल्मों में ऐसा एक्टिंग किया कि उन्हें ‘साहब बीवी  गुलाम’ के गीत ‘न जाओ सैयां छुड़ाके बैयां  ‘ के लिए आज भी याद किया जाता है

Image result for मीना कुमारी को Google ने Doodle बनाकर किया याद

मीना कुमारी का जन्म मुंबई में 1 अगस्त, 1932 को हुआ था उनका वास्तविक नाम महजबीं बानो था मीना के पिता अली बख्स पारसी रंगमंच के कलाकार थे  उनकी मां थियेटर कलाकार थींमायानगरी के जानकार बताते हैं कि मीना कुमारी का बचपन बहुत ही तंगहाली में गुजरा था उन्होंने ज़िंदगी के दर्द को जीया इसलिए उनकी फिल्मों में कोई भी दुख का दृश्य उनके एक्टिंग से जीवंत हो उठता था मीना कुमारी ने ज्यादातर दुख भरी कहानियों पर आधारित फिल्मों में कार्य कियाइसलिए उन्हें हिंदी फिल्मों की ट्रेजिडी क्वीन बोला जाता है

महजबीं पहली बार 1939 में फिल्म निर्देशक विजय भट्ट की फिल्म ‘लैदरफेस’ में बेबी महज़बीं के रूप में नज़र आईं 1940 की फिल्म ‘एक ही भूल’ में विजय भट्ट ने इनका नाम बेबी महजबीं से बदल कर बेबी मीना कर दिया 1946 में आई फिल्म बच्चों का खेल से बेबी मीना 13 साल की आयु में मीना कुमारी बनीं

बचपन में झेले इस दुख ने उनका ताउम्र पीछा नहीं छोड़ा फिल्मों में उन्होंने बहुत ज्यादा दौलत शौहरत कमाई अपनी खूबसूरती, अदाओं  बेहतरीन एक्टिंग से सभी को अपना दीवाना बना चुकीं मीना कुमारी की जिंदगी में दर्द आखिरी सांस तक रहा वह जिंदगी भर अपने अकेलेपन से लड़ती रहीं

ताउम्र रही प्यार की तलाश
मीना कुमारी को मशहूर फिल्मकार कमाल अमरोही में अपने प्रति प्यार की भावना नजर आईउन्होंने कमाल से ही निकाह कर लिया लेकिन उन्हें कमाल की दूसरी पत्नी का दर्जा मिला लेकिन इसके बावजूद कमाल के साथ उन्होंने 10 वर्ष बिताए मगर धीरे-धीरे मीना कुमारी  कमाल के बीच दूरियां बढ़ने लगीं  फिर 1964 में मीना कुमारी कमाल से अलग हो गईं बताते हैं कि धर्मेंद्र की वजह से कमाल  मीना कुमारी के रिश्तों में खटास आई

Source: Purvanchal media