हाल ए नारी निकेतन : यहां परोसा जाता है जला भुना खाना, घटिया तेल में बनती है सब्‍जी

National

सहारनपुर: विभिन्न विधिक मामलों में अपने परिवार के साथ न रहने वाली तथा कोर्ट द्वारा भेजी गई महिलाओं और युवतियों के लिए बनाए गए राजकीय पश्‍चातवर्ती देखरेख संगठन (नारी निकेतन) के औचक निरीक्षण के दौरान अनेक खामियां पायी गई। यहां रहने वाली महिलाओं को जो भूना चना परोसा जाता है, वह बेहद ही घटिया मिला और इस चने का सेवन करने से संवानियों ने भी स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ने की संभावना जताई गई। यही नहीं यहां भोजने तैयार करने के लिए प्रयोग होने वाले तेल भी बेहद ही घटिया पाया गया। अपर जिलाधिकारी प्रशासन ने नारी निकेतन की अधीक्षिका को तत्काल प्रभाव से इसमें सुधार किए जाने के आदेश दिए हैं।

एडीएम के औचक निरीक्षण में खुली पोल

सोमवार की दोपहर बाद अपर जिलाधिकारी प्रशासन एसके दुबे और एसडीएम सदर संगीता ने गांव फतेहपुर स्थित नारी निकेतन का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान नारी निकेतन की रसोई में भोजन पकाने के लिए जो तेल पाया गया वह बेहद ही घटिया होने के साथ ही निम्न स्तरीय कंपनियों का पाया गया। इस तेल के प्रयोग से संवासनियों के स्वास्थ्य पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है। इसके अलावा यहां पर जो चना दिया जाता है, वह भी अत्यधिक भूना हुआ या यंू कहें कि पूरी तरह से जला हुआ पाया गया। इस चने का प्रयोग भी कोई संवासिनी नहीं कर सकती। इस पर एडीएम ने सख्त रूख अख्तियार करते हुए तेल और चना आपूर्ति करने वाली फर्म को बदलने के आदेश दिए।

अध्‍यापिकाओं पर कार्यवाही

इस निरीक्षण के दौरान कुल 41 महिला युवतियां मौजूद मिली, जो अपने अध्यनकक्ष में थी। यहां संवासिनियों को पढाने के लिए आने वाली बेसिक शिक्षा विभाग की दो शिक्षिकाएं भी अनुपस्थित पायी गई, जिनके खिलाफ कार्रवाई के लिए शिक्षा विभाग को लिखा जा रहा है।

संवासनियों ने नहीं की कंप्‍लेन

स्टोर रूप में दाल चावल व अन्य उपलब्ध खाद्य सामग्री संग्रहित की हुई थी। खाद्य सामग्री के निरीक्षण के दौरान संज्ञान में आया कि चना जो अत्यधिक भूना हुआ था, उसको खाने से किसी भी संवासनी की सेहत पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता था। उसको तत्काल वापस कर उच्च गुणवत्ता का चना लाये जाने के निर्देश उपस्थित अधीक्षिका को दिये गये। इसी प्रकार राजकीय पश्चातवर्ती देखरेख संगठन (महिला) में सरसों का तेल, रिफाइन्ड, आदि कुछ सामान लोकल कम्पनी का मिला। उपस्थित अधीक्षिका इंदू बडोनी को निर्देशित किया गया कि जो भी खाद्य सामग्री संवासनियों के भोजन हेतु बाजार से क्रय की जाती है उसकी गुणवत्ता अच्छी हो तथा वह अच्छे ब्रांड का हों। निरीक्षण के समय दाल, चावल, आटा सही पाया गया।

निरीक्षण के समय राजकीय पश्चातवर्ती देखरेख संगठन में तैनात अन्य कर्मचारी भी उपस्थित पाये गये। निवासित संवासनियों से उप जिलाधिकारी सदर, सहारनपुर द्वारा किसी प्रकार की शिकायत होने के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की गई, परन्तु निवासित संवासनियों द्वारा किसी प्रकार की शिकायत न होने की बात कही गई।

The post हाल ए नारी निकेतन : यहां परोसा जाता है जला भुना खाना, घटिया तेल में बनती है सब्‍जी appeared first on Newstrack Hindi.

Source: Hindi Newstrack