अखबारों में विज्ञापन देकर फेक न्यूज़ पहचानने की तरकीबें बताई

Tech

अफवाहों की वजह से हो रही हिंसा को लेकर अब व्हाट्सएप्प ने फेक न्यूज के खिलाफ मुहिम शुरू की है. मैसेजिंग एप ने अखबारों में विज्ञापन देकर लोगों से अपील की है कि कोई भी संदेश बिना सोचे समझे नहीं बढ़ाएं जिससे किसी को तकलीफ हो सकती है. बच्चा चोरी की अफवाह से हुई कई मौत के बाद जब सरकार ने व्हाट्सएप्प पर सख्ती दिखाई तब व्हाट्सएप्प की तरफ से कहा गया कि जल्द ऐसे मैसेज पर लगाम लगाने के लिए कदम उठाए जाएंगे.

Related image

तकनीकी रूप से व्हाट्सएप्प क्या बदलाव करने जा रहा है इसकी अभी जानकारी नहीं है लेकिन व्हाट्सएप्प की तरफ से कहा गया है कि इस हफ्ते से वो एक नया फीचर ला रहा है जिससे आपको पता चलेगा कि कौन सा मैसेज फॉरवर्ड किया गया है. इसके साथ ही व्हाट्सएप्प ने आज अखबारों में एक विज्ञापन भी दिया है जिसमें लोगों को कुछ सलाह दी गई है.

इस विज्ञापन में कहा गया है कि हम एक साथ मिलकर ग़लत जानकारी की समस्या को दूर कर सकते हैं.

 

* ऐसी जानकारी की जांच करें जिस पर यकीन करना मुश्किल हो.

* ऐसे मैसेजेस से बचें जो थोड़े अलग दिखते हों, जिनमें भाषा की गलतियां हों.

* मैसेज में भेजे गए फोटो को ध्यान से देखें, फोटो से छेड़छाड़ की जा सकती है.

* मैसेज में भेजे गए लिंक की जांच करें.

* किसी मैसेज की सच्चाई जानने के लिए दूसरी साइट या ऐप को भी देखें.

* सोच समझकर मैसेज को शेयर करें.

* शक होने पर आप किसी नंबर को ब्लॉक कर सकते हैं, किसी ग्रुप को छोड़ सकते हैं.

* झूठी खबरें कई बार फरवर्ड होती हैं, बार-बार भेजे गए मैसेज से बचें.

आपको बता दें कि सरकार की चेतावनी के बाद व्हाट्सएप ने जो नया फीचर लाने का प्लान किया है उससे पता चल जाएगा कि कौन सा मैसेज फॉर्वर्ड किया गया है. देश के आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने व्हाट्सएप्प एक नोटिस भेजा था जिसके जवाब में व्हाट्सएप ने जल्द नया फीचर लाने का आश्वासन दिया था.

Source: Purvanchal mEDIA