गोरखपुर ट्रेजडीः कैंडिल जलाकर श्रद्धांजलि देने आए सपाईयों को पुलिस ने रोका, हुई गरमा-गरमी

National

गोरखपुर: बीआरडी ऑक्‍सीजन कांड की आज बरसी है। 10-11 अगस्‍त की रात ऑक्‍सीजन बाधित होने के कारण बीआरडी मेडिकल मेडिकल कालेज में 36 बच्‍चों की मौत हो गई थी। आज उन बच्‍चों को श्रद्धांजलि देने आए सपाईयों को पुलिस ने रोक दिया। हालांकि वे टाउनहाल के गांधी प्रतिमा के समक्ष ही मोमबत्‍ती रखकर चले गए। इस दौरान पुलिस और सपा कार्यकर्ताओं के बीच गरमा-गरम बहस हुई।

यह भी पढ़ें: UP के बस्ती में गिरा निर्माणाधीन फ्लाईओवर, 4 जख्मी, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

गोरखपुर के टाउनहाल गांधी प्रतिमा के समक्ष आज सपा के पदाधिकारी और कार्यकर्ता शाम 7 बजे जुटे। वे जैसे ही गांधी प्रतिमा के समक्ष पहुंचे, भारी फोर्स ने उन्‍हें रोक दिया। इस बीच पुलिस और सपा पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं के बीच गरमा-गरम बहस हुई।

पुलिस ने उन्‍हें ऊपर चबूतरे पर मोमबत्‍ती जलाकर श्रद्धांजलि नहीं देने दी। उसके बाद सपा कार्यकर्ताओं ने किनारे पर ही मो‍मबत्‍ती रखी और चलते बने। इस संबंध में सपा जिलाध्‍यक्ष प्रहलाद यादव ने कहा कि प्रशासन से इस कार्यक्रम के लिए कल अनुमति मांगी गई थी। लेकिन, प्रशासनिक अधिकारियों ने अनुमति देने से इंकार कर दिया।

यह भी पढ़ें: पर्यावरण के लिए सुरक्षित और बेहतर कॅरियर है सौर ऊर्जा

उन्‍होंने कहा कि उत्‍तर प्रदेश की सरकार कानून व्‍यवस्‍था को कंट्रोल नहीं कर पा रहे हैं। आज ऑक्‍सीजन कांड में मृत बच्‍चों को श्रद्धांजलि देने के लिए जुटे थे। एडीएम और कलेक्‍टर उनके एजेंट बनकर काम कर रहे हैं। प्रहलाद यादव ने कहा कि ऐसा लग रहा है कि यहां पर मोमबत्‍ती जलाने से यहां पर कोई आतंकवादी घटना हो जाएगी।

उन बच्‍चों को जाकर हम श्रद्धांजलि देने की अनुमति दे देना चाहिए था। हम समाजवादी लोग हैं। अगली बार अनुमति नहीं देंगे, तो हम परमीशन लेने के लिए नहीं जाएंगे, बगैर अनु‍मति के करेंगे।

सपा महिला सभा की अध्‍यक्ष नमिता सिंह ने कहा कि सरकार की तानाशाही के कारण उन्‍हें मृत बच्‍चों की आत्‍मा की शांति के लिए श्रद्धांजलि भी नहीं देने दे रहे हैं। उनका कहना है कि योगीराज में हमें श्रद्धांजलि भी नहीं देने की अनुमति है। इस सरकार में सिर्फ महिलाओं का उत्‍पीड़न हो रहा है।

The post गोरखपुर ट्रेजडीः कैंडिल जलाकर श्रद्धांजलि देने आए सपाईयों को पुलिस ने रोका, हुई गरमा-गरमी appeared first on Newstrack Hindi.

Source: Hindi Newstrack