महिलाओं के खिलाफ अपराध की एक भी घटना दुर्भाग्यपूर्ण

National
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भीड़ हिंसा और महिलाओं के खिलाफ अपराध के मामलों पर खामोश रहने के विपक्ष के आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि ऐसी एक भी घटना दुर्भाग्यपूर्ण है। मोदी ने कहा कि उन्होंने और कई भाजपा नेताओं ने बार-बार हिंसा के खिलाफ स्पष्ट शब्दों में बोला है। ऐसी घटनाओं के खिलाफ राजनीति से ऊपर उठकर एकसाथ खड़े होना चाहिए।
Image result for महिलाओं के खिलाफ अपराध की एक भी घटना दुर्भाग्यपूर्ण

प्रधानमंत्री ने एक साक्षात्कार में कहा कि ऐसी घटनाओं को महज संख्याओं में आंकना और फिर उन पर राजनीति करना उचित नहीं है। ज्यादातर लोग ऐसी घटनाओं का एकसाथ मिलकर विरोध करने के बजाय राजनीतिक फायदे के लिए इस्तेमाल करने लगते हैं। सभी लोगों को समाज में एकजुटता और शांति के लिए अपनी-अपनी राजनीतिक विचारधारा को छोड़कर आगे आना चाहिए।

मोदी ने कहा, ‘मेरी पार्टी (भाजपा) और मैंने ऐसी घटनाओं व सोच का बार-बार विरोध किया है। ये सब रिकॉर्ड में है। हमने शब्दों से आगे बढ़कर काम किया है। गृह मंत्रालय के काम पर नजर डालिए कि हिंसा की घटनाओं के खिलाफ हमने क्या काम किया।’

पीएम ने कहा, ‘मैंने सत्ता में आने बाद लाल किले से पहले भाषण में ही कहा था कि महिलाओं का सम्मान सुनिश्चित करना सरकार, समाज, परिवार और हर व्यक्ति की जिम्मेदारी है।’ उन्होंने कहा कि सरकार के स्तर पर हमने महिलाओं के खिलाफ अपराध के मामलों में मृत्युदंड तक का प्रावधान किया। ऐसी घटनाओं के मुकदमों की सुनवाई में तेजी आई है। यहां तक कि अब मौत की सजा भी दी जा रही है। हमारी सरकार महिलाओं के खिलाफ अपराध के मामलों में कानून को पूरी तरह से लागू करने में सक्षम है।

Source: Purvanchal media