जागृति आश्रय गृहों के संचालक और अधीक्षिकाएं फरार

National
प्रतापगढ़ में शासन के निर्देश पर फर्जीवाड़े में केस दर्ज होने के बाद दोनों आश्रय गृहों के संचालक व अधीक्षिकाएं घर छोड़कर फरार हो गईं। शनिवार को पुलिस की मौजूदगी में चार महिलाएं आश्रय छोड़कर चली गईं। काउंसलर और लेखाकार को पुलिस की निगरानी में रखा गया है।
Image result for जागृति आश्रय गृहों के संचालक और अधीक्षिकाएं फरार

शहर में संचालित होने वाले दो महिला स्वाधार आश्रय गृहों में 20 महिलाओं के काल्पनिक नाम के जरिए वित्तीय अनियमितता का मामला प्रकाश में आया था। जिला प्रोबेशन अधिकारी रनबहादुर सिंह की तहरीर पर कोतवाली में शुक्रवार की देर रात अचलपुर स्थित मैक्सन स्वाधार आश्रय गृह के संचालक इंद्रजीत सिंह, काउंसलर साजिदा सब्बाग और अष्टभुजानगर स्थित जागृति स्वाधार आश्रय गृह की संचालिका रमा मिश्रा, अधीक्षिका शेषमा तिवारी, लेखाकार अलका पांडेय के खिलाफ धोखाधड़ी, सरकारी धन के गबन के लिए फर्जीवाड़ा समेत अन्य मामलों में मुकदमा दर्ज हुआ है।

मुकदमा दर्ज होने की भनक लगते ही अष्टभुजानगर स्थित आश्रय गृह की संचालिका रमा मिश्रा व अधीक्षिका शेषमा तिवारी फरार हो गई। इधर अचलपुर स्थित मैक्सन स्वाधार आश्रय गृह संचालक इंद्रजीत सिंह भी अपना मोबाइल बंदकर भूमिगत हो गया है। आश्रय गृह की अधीक्षिका नेहा परवीन भी फरार हो गई है, जबकि इस आश्रय गृह की काउंसलर साजिदा सब्बाग और अष्टभुजानगर की लेखाकार अलका पांडेय पुलिस की निगरानी में हैं।

बाल विकास विभाग की सीडीपीओ को भी निगरानी के लिए लगाया गया है। अष्टभुजानगर स्थित आश्रय गृह से शुक्रवार की रात आसमा, नगीना चली गईं और शनिवार की सुबह मुन्नी और सलमा भी वहां से चली गईं। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि कुछ लोगों से पूछताछ की जा रही है। अभी विवेचना चल रही है। जांच के बाद दोषियों पर सख्त कार्रवाई होगी।

Source: Purvanchal media