बीजेपी नेता ने बदली इस सरकारी स्‍कूल की सूरत, फर्राटेदार अंग्रेजी बोलने लगे बच्‍चे

National

सुल्तानपुर: गंदगी और अव्यवस्थाओं का भंडार जहां सरकारी स्कूलों की पहचान बन चुका है। वहीं सुल्तानपुर  जनपद के कुड़वार ब्लाक का पूरेलेंदई प्राथमिक विद्यालय इन सभी के लिए उदाहरण बना हुआ है। यहां बच्चों की पढ़ाई का स्तर, उनके पढ़ाई के लिए व्यवस्थाएं किसी उच्च कोटि के अंग्रेजी माध्यम के विद्यालय से कम नहीं।

2017 में गोद लिया था स्‍कूल

इस प्राथमिक स्कूल को पार्टी नेतृत्व के आह्वान पर काशी क्षेत्र के उपाध्यक्ष रामचन्द्र मिश्रा ने दिसम्बर. 2017 में गोद लिया था। रामचन्द्र मिश्रा के गोद लेने के बाद पूरेलेंदई प्राथमिक स्कूल की तकदीर व तस्वीर ही बदल गई। भाजपा नेता व काशी क्षेत्र के उपाध्यक्ष ने जब विद्यालय गोद लिया था तो विद्यालय जर्जर अवस्था में था। कमरों सहित अन्य सुविधाओं का अभाव था।

मात्र 30 बच्‍चे आते थे स्‍कूल

प्राथमिक विद्यालय में लगभग 30-35 बच्चे स्कूल आते थे।विद्यालय गोद लेने के बाद रामचन्द्र मिश्रा ने गांव वालों की बैठक विद्यालय परिसर में बुलाई। बैठक में स्कूल के विकास के लिए समस्त ग्रामवासियों ने यथा संभव मदद का भरोसा दिया, फिर क्या था पूरे लेंदई स्कूल ने विकास का ऐसा ताना- बाना बुना कि आज वह स्कूल कुड़वार ब्लाक का ही नहीं, पूरे जिले व प्रदेश का नंबर एक  प्राथमिक विद्यालय बन गया।

यहां पर धर्मेन्द्र तिवारी प्रिंसिपल सहित छ: अध्यापक व अध्यापिका हैं। स्कूल में लगभग 137 बच्चे है। स्कूल में इंग्लिश मीडियम में पढ़ाई होती है। अति पिछड़े व ग्रामीण परिवेश में स्थित यह विद्यालय सुविधाओं व पढ़ाई में कान्वेंट स्कूल को टक्कर दे रहा है।

आधुनिक सुविधाओं से लैस है स्‍कूल

यहा पर कमरों में टाइल्स वाली फर्श, स्मार्ट टायलेट,दीवालों पर चित्र व स्लोगन, हाथ धोने के लिए वाश बेसिन, बच्चों को मिड डे मील खाने के लिए बेंच सहित शेड सबकुछ तो उपलब्ध है।साथ ही मिड डे मील बंटने से पहले बच्चों को हाथ साफ करना अनिवार्य है। बच्चों की उपस्थिति से लेकर शिक्षकों की उपस्थिति बेहतर रहती है।

प्रदेश में सुलतानपुर  जिले के कुड़वार  ब्लॉक का प्राथमिक विद्यालय, पूरे लेंदई पहला ऐसा विद्यालय होगा, जिसमें प्रोजेक्टर, कम्पयूटर, आर.ओ. का पानी, इन्वर्टर की सुविधा, बच्चों को बैठने के लिए कुर्सी, मेज, प्रत्येक कमरे में पंखा सबकुछ उपलब्ध है।यहां पानी के लिए समरसेबिल की बोरिंग है जिससे पूरे विद्यालय में पानी की टंकी से वाटर सप्लाई की व्यवस्था सुनिश्चित है।

जनसहयोग से जुटाया बजट

खास बात यह है कि इसके लिए शासन से कोई बजट नहीं मिला। भाजपा के वरिष्ठ नेता रामचन्द्र मिश्रा ने जन सहभागिता व लोगों के सहयोग के माध्यम से पूरे लेदई प्राथमिक विद्यालय की तस्वीर व तकदीर ही बदल डाली। भाजपा प्रवक्ता विजय सिंह रघुवंशी ने बताया कि रामचन्द्र मिश्रा जी के जीवंत प्रयास ने स्कूल की तस्वीर व तकदीर बदलने की एक मिसाल कायम कर दी है।

आपको बता दें इस स्कूल में बच्चों को पढ़ाने के लिए चाक और ब्लैक बोर्ड का इस्तेमाल नहीं किया जाता। बल्कि उसके स्थान पर व्हाइट बोर्ड और मार्कर का इस्तेमाल किया जा रहा है। जिससे बच्चे आसानी उसे समझ सकें।रामचन्द्र मिश्रा ने स्कूल के सभी बच्चों को नेल कटर, टिफिन बाक्स, स्कूल बैग जूता ड्रेस की पूरी किट उपलब्ध करायी है।इतना ही नहीं बच्चों को नहाने के लिए सप्ताह में एक डिटॉल साबुन भी दिया जाता है।

स्‍पोर्ट्स की भी सुविधा

इतना ही नहीं बच्चों की पढ़ाई के साथ साथ उनके खेलने के  लिए आधुनिक झूला, फुटबाल, बैडमिंटन आदि की सुविधा उपलब्ध है। इस विद्यालय में पढ़ाई की गुणवत्ता उच्चकोटि की है। इस विद्यालय में अगल-बगल के 7-8 किलोमीटर रेन्ज के अभिभावक बच्चों को छोड़ने व लेने आते है। भाजपा नेता रामचन्द्र मिश्रा की यह पहल व प्रयास जिलेवासियों के लिए अनुकरणीय व प्रेरणादायीं है। यहां बच्चों के दाखिले के लिए अब सिफारिश की जाती है।

The post बीजेपी नेता ने बदली इस सरकारी स्‍कूल की सूरत, फर्राटेदार अंग्रेजी बोलने लगे बच्‍चे appeared first on Newstrack Hindi.

Source: Hindi Newstrack