कन्फेशनरी में जॉब से की थी करियर की शुरुआत, अब बनेंगे पेप्सिको के सीईओ

International

यूएसए: पेप्सिको के अध्यक्ष रामोन लागुआर्ता को निदेशक मंडल ने इंदिरा नूई का उत्तराधिकारी चुना है। इंदिरा नुई 12 साल से अमेरिका की इस प्रमुख फूड और बेवरेज कंपनी की अगुवाई कर रही थी। उनके पद छोड़ने के बाद अब कम्पनी ने रामोन लागुआर्ता को पेप्सिको का नया सीईओ नियुक्त किया है। उन्हें स्पेनिश के अलावा फ्रेंच जर्मन, इंग्लिश आदि भाषाओं का भी ज्ञान है।
newstrack.com आज आपको रामोन लागुआर्ता की अनटोल्ड स्टोरी के बारे में बता रहा है।

बर्सोलोना शहर में बीता था बचपन
रामोन लागुआर्ता का जन्म 1964 में स्पेन के बर्सोलोना शहर में हुआ था। उनके बचपन का काफी हिस्सा उसी शहर की गलियों में घूमते हुए बीता था। उन्होंने ग्रेजुएशन करने के बाद एमबीए की पढ़ाई के लिए एसेड बिजनेस स्कूल में दाखिला ले लिया। उसके बाद थंडरबर्ड स्कूल ऑफ़ मैनजेमेंट से इंटरनेशनल मैनेजमेंट सब्जेक्ट में मास्टर की डिग्री हासिल की।

कन्फेशनरी कम्पनी से की थी करियर की शुरुआत
रामोन लागुआर्ता ने अपनी करियर की शुरुआत स्पेन की ‘चुपा चुपस’ नाम की एक कन्फेशनरी कम्पनी से की थी। जो खाने -पीने की चीजें बनाती है। जो कि उस समय बहुत तेजी के साथ आगे बढ़ रही थी। उन्होंने वहां पर खूब मेहनत की। जिसका फायदा उन्हें और ‘चुपा चुपस’ कम्पनी दोनों को हुआ। उन्होंने इन दो देशों में रहते हुए कपनी के लिए कई अंतराष्ट्रीय भूमिकाएं निभाई। वे हमेशा से जीवन में कुछ बड़ा आदमी बनने का सपना देखते थे। इसलिए उन्होंने बाद में इस जॉब को छोड़ने का फैसला किया।

ये भी पढ़ें…मुश्किलें भी नहीं रोक पाईं इनके बढ़ते कदम, हौसलों से भरी सफलता की उड़ान

1996 में थामा था पेप्सिको का हाथ
1996 में रामोन लागुआर्ता पहली बार पेप्सिको कम्पनी से जुड़े थे। वे उस समय यूरोप और यूएसए में रहकर वहां पर कम्पनी के लिए बिजेनस वर्क देख रहे थे। उन्होंने बहुत जल्दी ही कम्पनी के अंदर अपनी एक पहचान कायम करना शुरू कर दिया। उनकी मेहनत का ही नतीजा है कि बहुत कम समय के अंदर ही उनकी कम्पनी ने यूरोप और यूएसए में अपने पैर मजबूती से जमा लिए। उस साल कम्पनी को अच्छा मुनाफा हुआ। उसके बाद से उन्होंने कभी पीछे मुडकर नहीं देखा।

2015 में बन गये प्रेसिडेंट
रामोन लागुआर्ता 2015 में यूरोप वापस आ गये। उन्हें यूरोप और अफ्रीका दो बड़े देशों में कम्पनी का बिजेनस संभालने के लिए वहां का सीईओ बना दिया गया। सीईओ का पद संभालने के बाद से उनके निर्देशन में कम्पनी लगातार प्रगति करती गई। पेप्सिको का मुनाफा साल दर साल बढ़ता ही गया। जिसके बाद कम्पनी ने उन्हें प्रमोट करते हुए ‘पेप्सिको’ का प्रेसिडेंट नियुक्त कर दिया।

ये भी पढ़ें…छुट्टियों में विदेश से घर वापस आने के लिए जेब में नहीं होते थे पैसे, ऐसे बनीं IPS

अब बनेंगे पेप्सिको के सीईओ
भारतीय मूल की निवासी इंदिरा नूई ने पेप्सिको कम्पनी में पद छोड़ने का एलान कर दिया है। जिसके बाद पेप्सिको ने रामोन लागुआर्ता को कम्पनी का नया सीईओ नियुक्त करने का फैसला किया है। इसकी अधिकारिक घोषणा भी कम्पनी की तरफ से कर दी गई है। रामोन लागुआर्ता अक्टूबर माह में सीईओ का चार्ज संभाल सकते है। उनके परिवार में उनकी पत्नी और चार बच्चे है।

 

 

 

 

 

 

 

The post कन्फेशनरी में जॉब से की थी करियर की शुरुआत, अब बनेंगे पेप्सिको के सीईओ appeared first on Newstrack Hindi.

Source: Hindi Newstrack